Mumps Virus News in Hindi: दिल्ली-एनसीआर में बढ़ने लगा मम्प्स वायरस, कैसे करें बचाव, पढ़े पूरी खबर

Mumps Virus News in Hindi: दिल्ली-एनसीआर में तेजी से फ़ैल रहा मम्प्स वायरस, मुंबई और केरला के बाद दिल्ली में देखने को मिल रहा इसका प्रकोप, इस लेख में जानिए कैसे करे इस मम्प्स वायरस से अपना और अपने बच्चो का बचाव। सम्पूर्ण जानकारी के लिए आखरी तक बने रहे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Mumps Virus News Delhi: तेजी से फ़ैल रहा दिल्ली-एनसीआर में मम्प्स वायरस

महाराष्ट्र, तेलंगाना, केरल और आंध्र प्रदेश के बाद अब दिल्ली-एनसीआर में गलसुआ की बीमारी तेजी से फ़ैल रही है। दिल्ली-एनसीआर के कही इलाको में इस गलसुआ बीमारी (Mumps Virus) के केस देखने को मिल रहे है। बता दे, इस बीमारी का प्रभाव काम उम्र के बच्चो पे ज्यादा देखने को मिलता है और इस बीमारी के चलते बच्चो के गलो के आसपास सूजन आती है साथ ही खाना खाने में परेशानी और बुखार आता है।

Mumps Virus News in Hindi
Mumps Virus News in Hindi

जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र, तेलंगाना, केरल, आंध्र प्रदेश और दिल्ली-एनसीआर को मिलाकर मार्च 2024 तक इस मम्प्स वायरस के कुल 15,637 मामले सामने आए हैं। इसका मुख्य कारन ये बताया जा रहा है की, पिछले कुछ सालो से इस बीमारी के लिए जो टीकाकरण किया जाता है। उसका प्रमाण कम होने से यह मम्प्स वायरस तेजी से फ़ैल रहा है। इस कारन 8 महीने से लेकर 4 से 5 साल तक की उम्र के बच्चो को यह टिका जरूर लगवाए और अपने बच्चो को और अपने आप को इस मम्प्स वायरस से बचाये।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

यह भी पढ़े- अच्छे स्वास्थ्य के लिए 10 Well Health Tips in Hindi: अपनाएं ये आदतें

मम्प्स वायरस पर डॉक्टर क्या कहते हैं? (Mumps Virus News Delhi)

डॉक्टरों के मुताबिक यह एक संक्रामक बीमारी है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को हो सकती है। जिस व्यक्ति को यह बीमारी है अगर वो खांसता या छींकता है तो आस पर मौजूद लोगो को भी यह बीमारी हो सकती है। गलसुआ बीमारी का वायरस अपने मुंह में मौजूद पैरोटिड ग्लैंड को त्रस्त यानि प्रभावित करता है। जिससे अपने गलो के आस-पास सूजन आ जाती है और यह सूजन कानों तक भी जा सकती है। जिस कारन बच्चो को सुनाई न देने का खतरा हो सकता है।

बात की जाये, मम्प्स वायरस के सिम्पटम्स की तो, सिरदर्द, बुखार, मांसपेशियों में दर्द, भूख न लगना, थकान और लार ग्रंथियों की सूजन आना ये इस बीमारी के लक्षण है। अगर आपको अपने बच्चो में ऐसे सिम्पटम्स नजर आते है तो जल्द से जल्द डॉक्टर का इलाज आपके लिए और आपके बच्चो के लिए महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़े- Jio Electric Scooter क्या सच में होगी लॉन्च, कितनी होगी कीमत क्या है पूरी खबर, यहां जाने सबकुछ

मम्प्स वायरस से कैसे करें बचाव

How to protect yourself from mumps virus: गलसुआ की बीमारी एक संक्रामक बीमारी है। अगर आपको या फिर आपके बच्चे को यह बीमारी हो गई है। तो उसे 7 दिनों तक आइसोलेट रखें, चेहरे, नाक, आंख और मुंह को बार बार न छुएं। बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, थकान, भूख और गले में सूजन आदि लक्षण दीखते ही डॉक्टर को दिखाए।

संक्षेप में-

  • मम्प्स वायरस की संख्या दिल्ली-एनसीआर में तेजी से बढ़ रही है। महाराष्ट्र, तेलंगाना, केरल और आंध्र प्रदेश के बाद अब दिल्ली-एनसीआर में इस वायरस का प्रकोप देखने को मिल रहा है।
  • इस का प्रभाव ज्यादातर कम उम्र के बच्चों पर और युवाओं में देखने को मिलता है, जिससे उनके गले के आसपास सूजन आती है और खाना खाने में परेशानी होती है।
  • डॉक्टरों के मुताबिक, मम्प्स वायरस संक्रामक बीमारी है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को हो सकती है। इस बीमारी के लक्षण में सिरदर्द, बुखार, मांसपेशियों में दर्द, भूख की कमी, थकान, और लार ग्रंथियों की सूजन शामिल है।
  • मार्च 2024 तक मम्प्स वायरस के कुल 15,637 मामले दर्ज हुए हैं।
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a comment